कोरोना के रिकार्ड मामलों के बीच दिल्ली में सिर्फ 4,487 बेड खाली

राजधानी दिल्ली महाराष्ट्र के बाद देश में कोरोना के दूसरे एपिक सेंटर के रूप में उभर रही है. दिल्ली में दैनिक रूप से दर्ज होने वाले कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़ती जा रही है जिसने केजरीवाल सरकार के लिए गंभीर मुश्किलें खड़ी कर दी हैं. प्रदेश में पॉजिटिवीटी दर 20 प्रतिशत हो गई है. पिछले 24 घंटे में दिल्ली में कोरोना के 16,699 नए मामले दर किए गए हैं तथा 112 लोगों की मौत हो चुकी है. दिल्ली में कोरोना के एक्टिव मरीजों की संख्या 54,309 हो गई है. संक्रमितों की लगातार बढ़ती संख्या की वजह से दिल्ली में बेड्स की किल्लत शुरू हो गई तथा ऑक्सीजन की भी भारी कमी है.   

जानकारी के मुताबिक, दिल्ली में कुल बेडों की संख्या 15,940 है जिसमें 11,453 बेड्स भर चुके हैं और सिर्फ 4,487 बेड्स ही खाली हैं. वहीं वेंटिलेटर की कुल संख्या 1266 है जिसमें सिर्फ 199 ही खाली हैं. स्थिति ऐसी है की कुछ अस्पतालों में दो कोरोना मरीजो को एक ही बेड पर लिटाया जा रहा है. जिस तरह दिल्ली में  संक्रमितों की संख्या बढ़ती जा रही उसे देखते हुए ऐसा लग रहा है की आने वाले दिन भीषण मुश्किलों से भरे हैं.

आज से वीकेंड कर्फ्यू

कोरोना पर नियंत्रण के लिए दिल्ली सरकार ने प्रदेश में वीकेंड कर्फ्यू लगा दिया है. वीकेंड कर्फ्यू शुक्रवार रात 10 बजे से सोमवार सुबह 6 बजे तक रहेगा. इस दौरान जिम, स्पा, बाजार, मॉल आदि बंद रहेंगे. बिना जरूरी कार्य के किसी को भी घर से बाहर निकलने की मनाही है. वीकेंड कर्फ्यू के अलावा केजरीवाल सरकार ने दिल्ली के पर्यटन स्थलों को 15 मई तक के लिए बंद कर दिया है. आपको बता दें कि दिल्ली में कोरोना संक्रमितों की कुल संख्या 7,84,137 हो गई है जबकि कुल मृतकों का आंकड़ा 11,652 हो गया है.

 

By Pankaj Kumar