नाइट लॉकडाउन की वजह से चरमराने लगी भारतीय अर्थव्यवस्था

देश में कोरोना के लगातार बढ़ते मामलों की वजह से अर्थव्यवस्था एकबार फिर पटरी से उतरने लगी है. बता दें कि कोरोना के बढ़ते मामलों की वजह से दिल्ली, महाराष्ट्र, एमपी, पंजाब जैसे कई राज्यों में नाइट कर्फ्यू लगाया गया है. नाइट कर्फ्यू की वजह से जहां सर्विस उद्योग से जुड़े व्यापारियों के लिए मुश्किलें खड़ी हो गई हैं. वहीं थोक व्यापार से जुड़े व्यापारियों को नाइट कर्फ्यू की वजह से मजदूर नहीं मिलने के कारण माल स्टोर करने में काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. इसके अलावा तमाम छोटे, लघु उद्योग, ट्रैवल उद्योग भी एकबार फिर संकट में आ गए हैं.

छोटे एवं लघु उद्योग संघ के सचिव अनिल भारद्वाज का कहना है कि, ‘नाइट कर्फ्यू की वजह से होटल, बैनक्वेट हॉल, इवेंट, ट्रैवल आदि के व्यापार पर असर दिखना शुरू हो गया है. नाइट कर्फ्यू की वजह से पार्टियां बंद हो रही हैं. लोग रात में घूमने से बच रहे हैं. उन्होंने कहा कि पिछले वर्ष भी ये उद्योग ही सर्वाधिक प्रभावित थे और फिर सबसे पहले ये ही संकटग्रस्त हो गए हैं. भारद्वाज ने बताया कि फिलहाल उत्पादन से जुड़ी कंपनियों पर असर नहीं पड़ा है लेकिन यदि देश में फिर से लॉकडाउन लगाया जाता है तो भारतीय अर्थव्यवस्था को गंभीर संकट का सामना करना होगा.

By Pankaj Kumar